Thursday, July 25आदिवासी आवाज़

पर्यावरण संरक्षण को लेकर स्कूली बच्चों में दिया जागरुकता का संदेश

NAGADA : The Adiwasi Media
बोकारो ः विश्व पर्यावरण दिवस के आलोक में 5 से 12 जून तक साप्ताहिक कार्यक्रम के तहत एस एस +2 उच्च विद्यालय, कसमार में पर्यावरण संरक्षण को लेकर बच्चों को जागरूक करने के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान विद्यालय के शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों को पौधरोपण और उसके महत्व के बारे में जानकारी दी गई।
इस कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जीव विज्ञान के शिक्षक महाकांत झा ने बच्चों को ऊर्जा के विभिन्न स्रोत, अनवीकरणीय और नवीकरणीय ऊर्जा के विषय में महत्वपूर्ण जानकारियां दीं।
विद्यालय के प्राचार्य फारुक अंसारी ने पर्यावरण संरक्षण के संबंध में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि विदेशों में आधुनिक और तरक्की की होड़ में प्रकृति दोहन को अनदेखा किया गया, जिसका परिणाम यह है कि वहां अनेक प्रकार की आपदाओं से जूझना पड़ रहा है। इसलिए हमारे भारत वर्ष में ऐसा न हो, इसके लिए हमें जागरुक होकर अधिक से अधिक पेड़ लगाने होंगे।
अगली कड़ी में विद्यालय के अंग्रेजी शिक्षक डॉ अवनीश कुमार झा ने पर्यावरण, कला और साहित्य से जोड़कर पौधों के महत्व को समझाते हुए वृक्षों से भावनात्मक रूप से जुड़ने का सुझाव दिया। इतिहास के शिक्षक अमित कुमार ने अपने वक्तव्य में पर्यावरण के अर्थ को स्पष्ट हुए हम कैसे इसका बचाव करें, जिससे भविष्य में आने वाली अनेक समस्याओं से बचा जा सके, इस पर विस्तृत जानकारी दी। इसके अलावा विद्यालय के शिक्षक और शिक्षिकाओं में अशोक रजवार, सुजाता कुमारी, जितेन्द्र कुमार सिंह, सुशीला कुमारी, अजय कुमार दूबे व बीएड प्रशिक्षु शिक्षक भी उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं ने भी स्लोगन, पोस्टर और वाद-विवाद प्रतियोगिता में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।