Thursday, July 25आदिवासी आवाज़

ईएसएल स्टील लि0 ने 2024-25 के लिए 1.5 लाख पौधों की वृक्षारोपण अभियान का लक्ष्य तय किया

NAGADA : The Adiwasi Media

• 5 जून को यू एन ई पी द्वारा घोषित विश्व पर्यावरण दिवस के साथ ही वृक्षारोपण अभियान शुरू किया गया

• विश्व पर्यावरण दिवस 2024 का विषय भूमि पुनर्स्थापन, मरुस्थलीकरण और सूखे से निपटने की क्षमता है

• ई एस एल स्टील लिमिटेड में पर्यावरण चेतना, जागरूकता और कार्रवाई पखवाड़ा में एक्सेल 30 कक्षाओं और सुरक्षा वाहन से जागरूकता, विभागीय प्रश्नोत्तरी और मजेदार सत्र, ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी, पोस्टर मेकिंग, फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी प्रतियोगिताओं के अलावा वृक्षारोपण अभियान शामिल हैं

बोकारो | 6 जून 2024: ई एस एल स्टील लिमिटेड, बोकारो स्थित वेदांता समूह की कंपनी, भारत की एक अग्रणी एकीकृत इस्पात उत्पादक है, जो हमेशा अपने क्षेत्रों में समाज और समुदाय के लाभ और कल्याण के लिए अथक प्रयास करती है। हमारे सामाजिक और सामुदायिक विकास प्रयासों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता के लिए हमें विभिन्न प्रतिष्ठित राष्ट्रीय / अंतर्राष्ट्रीय सरकारी संगठनों और गैर सरकारी संगठनों द्वारा कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।

आज, भारत और शेष विश्व में बिगड़ते पर्यावरण मापदंडों को रोकने में योगदान देने की तत्काल आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए ई एस एल स्टील लिमिटेड के स्वास्थ्य, सुरक्षा, पर्यावरण और स्थिरता (एच एस ई एस) विभाग के. संदीप, एच एस ई एस के प्रमुख के नेतृत्व में यू एन ई पी (संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम) द्वारा घोषित विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया। संयंत्र में एक पखवाड़ा तक चलने वाले पर्यावरण चेतना, जागरूकता और कार्रवाई पखवाड़ा समारोह का यह कार्यक्रम समापन भी था।

5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस का नेतृत्व यू एन ई पी द्वारा किया जाता है और 1973 से प्रतिवर्ष आयोजित किया जाता है। यह कार्यक्रम पर्यावरण आउटरीच के लिए सबसे बड़ा वैश्विक मंच बन गया है । यह भविष्य की पीढ़ियों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए राष्ट्रों और लोगों को प्रेरित, सूचित और सक्षम करके पर्यावरण की देखभाल में नेतृत्व प्रदान करता है और साझेदारी को प्रोत्साहित करता है। विश्व पर्यावरण दिवस के लिए इस वर्ष का विषय भूमि बहाली, मरुस्थलीकरण और सूखे का प्रतिरोध है।

इस वर्ष के विश्व पर्यावरण दिवस समारोह के साथ एक पखवाड़ा तक चलने वाला पर्यावरण चेतना, जागरूकता और कार्रवाई पखवाड़ा ई एस एल स्टील लिमिटेड में मनाया गया। एच एस ई एस विभाग द्वारा आयोजित सप्ताह भर के समारोह ने संगठन के लगभग सभी कर्मचारियों को प्रभावित किया और इसमें एक्सेल 30 क्लासेस में और सुरक्षा वाहन से जागरूकता, विभागीय क्विज़ और मजेदार सत्र, ऑनलाइन क्विज़, पोस्टर बनाने, फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की प्रतियोगिताएं, के अलावा 1.5 लाख पौधे लगाने के महत्वाकांक्षी वृक्षारोपण अभियान शामिल रहा।

ई एस एल स्टील लिमिटेड के मुख्य परिचालन अधिकारी रवीश शर्मा ने उपस्थित लोगों से कहा, “मैं इस तथ्य पर जोर देना चाहूंगा कि पर्यावरण हम सभी को प्रभावित करता है और इसलिए हम सभी को प्रकृति माँ का ध्यान रखना चाहिए। इसे किसी अन्य व्यक्ति पर नहीं छोड़ा जा सकता है। पेरिस में 2015 के संयुक्त राष्ट्र जलवायु शिखर सम्मेलन में स्वीकार किए गए “वन-पॉइंट-फाइव” घोषणा, जिसे पेरिस समझौते के रूप में जाना जाता है, जिसका मंतव्य ये है कि वर्ष 2100 तक, सभी 195 देशों, संगठनों और व्यक्तियों को पूर्व-औद्योगिक क्रांति के स्तर की तुलना में दुनिया के औसत सतह के तापमान को 1.5 डिग्री सेल्सियस से अधिक नहीं बढ़ने देने का प्रयास करना है।“

उन्होंने आगे कहा, “हमने 2024-25 में 1.5 लाख पौधे लगाने का संकल्प लिया है। यह “वन-पॉइंट-फाइव” घोषणा की दिशा में हमारा प्रयास है। हमारे लिए, यह एक महत्वाकांक्षी योजना है लेकिन हम अपनी प्रेरणा दुष्यंत कुमार की बार-बार दोहराई जाने वाली कविता ‘कैसे आकाश में सुरख नहीं हो सकता; एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो’ से ले रहे हैं।

वेदांता ई एस एल स्टील लिमिटेड के मुख्य परिचालन अधिकारी रवीश शर्मा, ई एस एल स्टील लिमिटेड के मुख्य वित्तीय अधिकारी आनंद दुबे, सी क्यू ओ और प्रमुख बिजनेस एक्सीलेंस सुश्री मीनाक्षी सभरवाल, सीएचआरओ सुश्री श्यामली मिंज ने दीप प्रज्ज्वलन के बाद पर्यावरण के प्रति जागरूक रहने और ई एस एल स्टील लिमिटेड के महत्वाकांक्षी 1.5 लाख पौधे लगाने के अभियान में मदद करने की शपथ ली।

इसमें ई एस एल स्टील कंपनी के के. संदीप, प्रमुख – एच एस ई एस, ई एस एल; तपेश चंद्र नस्कर, निदेशक, डी आई पी; अमृत मुखर्जी, निदेशक, सेंट्रल इंजीनियरिंग; सरोज कुमार सिंह, निदेशक, स्टील; और अमल घोष, निदेशक, परियोजनाएं ने भी भाग लिया, जो विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को सम्मानित करने उपस्थित हुए थे।

वेदांता ई एस एल स्टील लिमिटेड के बारे में:
झारखंड के बोकारो जिले के सियालजोरी गांव में स्थित ईएसएल स्टील लिमिटेड स्टील उत्पादों की अग्रणी निर्माता है। इसमें 2.5 मिलियन टन प्रति वर्ष (एमटीपीए) क्षमता वाला ग्रीनफील्ड एकीकृत इस्पात संयंत्र है जो पिग आयरन, बिलेट्स, टीएमटी बार, वायर रॉड और डक्टाइल आयरन पाइप का उत्पादन करता है। यह संयंत्र निर्धारित पर्यावरण मानकों के अनुरूप काम करता है, तथा विश्वस्तरीय सेवाओं और उत्पादों की पेशकश करने के लिए प्रतिष्ठित निर्माताओं से अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञता और समाधान लाता है।