Thursday, July 25आदिवासी आवाज़

सुरक्षाबलों के लिए लगाए गए 9 सिलेंडर बम को किया गया डिफ्यूज

NAGADA : The Adiwasi Media

लातेहार:
एसपी को मिली गुप्त सूचना पर जिला पुलिस और सीआरपीएफ के द्वारा संयुक्त रूप से छापेमारी अभियान चलाकर बूढ़ा पहाड़ की तलहटी में बसे लाटू जंगल में 9 सिलेंडर बम को डिफ्यूज कर दिया है. एसपी अंजनी अंजन की सटीक सूचना तंत्र ने एक बार फिर से नक्सलियों के मंसूबे को ध्वस्त कर दिया.

लातेहार एसपी अंजनी अंजन को गुप्त सूचना मिली थी कि बूढ़ा पहाड़ की तलहटी में बसे लाटू जंगल के आसपास नक्सलियों के द्वारा सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने को लेकर बड़ी संख्या में सिलेंडर बम लगाए गए हैं. इस सूचना के बाद सीआरपीएफ 218 बटालियन और जिला पुलिस के द्वारा संयुक्त रूप से जंगल में छापेमारी अभियान चलाया.सर्च अभियान के दौरान जंगल में छिपा कर रखे गए 9 सिलेंडर बम बरामद किए गए. बाद में सभी सिलेंडर बम को जंगल में ही बम निरोधक दस्ते के द्वारा डिफ्यूज कर दिया गया. हालांकि पुलिस और सुरक्षाबलों के द्वारा अभी भी इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है. संभावना जताई जा रही है कि पुलिस को अभी कुछ और भी सफलता मिल सकती है.

इस संबंध में लातेहार एसपी अंजनी अंजन ने बताया कि बूढ़ा पहाड़ के इलाके को नक्सलियों के चंगुल से पूरी तरह मुक्त कर लिया गया है. पुलिस और प्रशासन अब बूढ़ा पहाड़ के इलाके में बसे गांव को विकसित करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चला रही है. परंतु नक्सली बूढ़ा पहाड़ के इलाके में पुलिस और सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने के लिए लगातार इस प्रकार का प्रयास करते रहते हैं. एसपी ने कहा कि पुलिस और सुरक्षा बलों के द्वारा सर्च अभियान चलाया जा रहा है. सर्च अभियान के दौरान मिले 9 सिलेंडर बम को विस्फोट कर नष्ट कर दिया गया है. ज्ञात हो कि बूढ़ा पहाड़ के इलाके में कभी नक्सलियों का वर्चस्व हुआ करता था. इस इलाके में नक्सलियों के कई बड़े कमांडर आकर जमे रहते थे. परंतु पुलिस और सुरक्षाबलों के द्वारा विगत 2 वर्षों के इस पूरे इलाके को नक्सलियों के चंगुल से मुक्त कर लिया गया है. इस इलाके में नक्सली काफी कमजोर हो गए हैं. ऐसे में अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए नक्सलियों के द्वारा विस्फोटक घटनाओं को अंजाम देने का भी प्रयास किया जा रहा है. परंतु पुलिस की सटीक सूचना तंत्र के कारण नक्सली अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पा रहे हैं. पुलिस के द्वारा चलाए जा रहे हैं सर्च अभियान में बड़ी संख्या में सुरक्षा बल और पुलिस के जवान लगाए गए हैं.